झूठे मुकदमे से कैसे बचें? 482 Cr.P.C है हर भारतीय का सुरक्षा कवच.

Share

भारतीय इतिहास में जितने भी कानून बनाए गए हैं उन सभी का उपयोग और दुरुपयोग होता रहा है. यदि आप पर भी किसी ने किसी कानून का दुरुपयोग कर या आपके नाम पर झूठा मुकदमा दायर कर दे, तो आपको क्या करना चाहिए? झूठे मुकदमे से ना सिर्फ कारावास बल्कि मानसिक प्रताड़ना, मानसिक तनाव, आर्थिक हानि और समाज में प्रतिष्ठा खोने का भी डर रहता है.

इस तरह की समस्या से निजात पाने के लिए आप कई तरह के उपाय कर सकते हैं –

1. उदाहरण के लिए मान लीजिए आपका झगड़ा किसी नवीन( काल्पनिक नाम) से हो गया और उसने आपके नाम से झूठे आरोप लगाते हुए F.I.R कर दिया. ऐसी स्थिति में आपको काउंटर फाइल करते हुए अपना पक्ष मजबूती से रखना चाहिए, झूठे आरोपों को खारिज करते हुए अपने निर्दोष होने का सबूत पेश करना चाहिए.

2. यदि नवीन( काल्पनिक नाम) scheduled caste या scheduled tribe से बिलॉन्ग करता हो तो वह आपको SC ST act मैं फंसाने की कोशिश कर सकता है इस एक्ट के हिसाब से गिरफ्तारी मुकदमा के बाद हो जाती है ऐसे में आपको अपनी गिरफ्तारी रोकने के लिए 482 cr. P.C का मदद लेते हुए हाई कोर्ट में अपील करनी होगी जिससे आप पर हुए झूठे मुकदमे पर हाईकोर्ट विचार करेगी.

यदि आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट बॉक्स खुला है और यदि आपको यह जानकारी पसंद आई तो इस पेज को लाइक करें, धन्यवाद.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *